Latest News

उम्मीद की सीढ़ियों पर एक दरवाजा

‘टुडे विल भी डिफरेंट’ मारिया सैंपल का तीसरा उपनयास है। उपन्यास की मुख्य पात्र है एलेनोर फ्लड। एक मध्यम आयुवर्ग की विवाहित महिला, जिसके पति का नाम जो है। जो एक सर्जन है। उन दोनों का एक बेटा है टिंबी। टिंबी गैलर स्ट्रीट स्कूल में पढ़ता है। कहानी में एलेनोर खुद को जिंदगी के भंवर में फंसा हुआ महसूस करती है। एक दिन वह तय करती है कि अपने जीवन की एकरसता को खत्म करेगी और खुद से कहती है कि आज का दिन अलग होगा।

एलेनोर के इसी फैसले के आधार पर उपन्यास का नाम रखा गया है- ‘टुडे विल बी डिफरेंट’। मारिया के पहले दो उपन्यास थे, ‘दिस वन इज माइन’ और ‘व्हेयर वुड यू गो, बर्नेट’। ‘व्हेयर वुड यू गो, बर्नेट’ के नेशनल बेस्ट सेलिंग बनने के बाद मारिया के उपन्यास पढ़ने वालों की संख्या काफी बढ़ गई है। खासकर उनकी कहानियों में मध्यम आयुवर्ग की विवाहित मां और उनके कहानी कहने के मनोरंजक अंदाज ने लोगों को काफी प्रभावित किया है।

मारिया की विशेषता है कि वह अपने बुद्धिमत्तापूर्ण हास्य के जरिए पाठकों से जुड़ जाती हैं। कहानी पढ़ने के दौरान समय-समय पर आने वाले व्यंग्य पाठक को गुदगुदाते हैं। कई वाक्य ऐसे भी हैं, जो बहुत से लोगों के जीवन में वास्तव में घटित हुए होंगे। उदाहरण के तौर पर, ऐलेनोर से उसका बेटा टिंबी कहता है कि ‘पाइपर वील ने मुझे एक बुरा शब्द कहा, जो सी से शुरू होता है’।

ऐलेनोर- ‘एक तीसरी कक्षा के बच्चे ने तुम्हें एक सी-वर्ड कहा?’ ‌टिंबी – हां, काऊ(गाय)।’ इसके अलावा सैंपल ने अपनी कहानी में दृश्य जोड़कर कहानी के किरदारों को यथार्थ रूप दिया है। उदाहरण के तौर पर ऐलेनोर एक लेखिका और ग्राफिक ऩॉवल‌िस्ट बनने की कोशिश करती है और सैंपल इसमें वास्तविकता का पुट डालने के लिए अपने मिनी ग्राफिक नॉवेल ‘फ्लड गर्ल’ के वास्तविक पन्नों को जोड़ती हैं। हालांकि यह सच है कि यथार्थपरखता और हास्य उड़ेलने के बावजूद मारिया सैंपल उपन्यास में गहराई उत्पन्न करने में विफल रही हैं।

इसे पढ़ते हुए लगता है क‌ि यह विचित्र शैली, हास्य और मुख्य पात्र के जुड़ाव के बावजूद अनियमितताओं से भरा हुआ है। ‘व्हेयर वुड यू गो, बर्नेट’ जैसे सफल उपन्यास के बाद एक और उपन्यास लिखना जो पहले की तरह सफल हो, आसान नहीं है। दुर्भाग्य से सैंपल का यह उपन्यास ‘टुडे विल बी डिफरेंट’ भी कोई अपवाद नहीं है।

हालांकि मारिया सैंपल ने अपनी जानी-मानी हास्य शैली और गहराई के बीच सामंजस्य बैठाने की कोशिश की है, लेकिन वे ठहराव की स्थिति में आगे बढ़ने के समग्र संदेश से आगे नहीं बढ़ सकी। अनियमिता में खोई कहानी की वजह से मारिया का तीसरा उपन्यास अंतत: पाठकों को निराश करता है।

टुडे विल बी डिफरेंट
लेखक-मारिया सेंपल
प्रकाशक- लिटिल ब्राउन एंड कंपनी
मूल्य-795 रूपये

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply