Latest News
Category: Kitab Ghar
Editor choice ‘खुल्ल्म खुल्ला’ में ऋषि कपूर का खुलासा, दाऊद इब्राहिम से की थी मुलाकात

‘खुल्ल्म खुल्ला’ में ऋषि कपूर का खुलासा, दाऊद इब्राहिम से की थी मुलाकात

0

ऋषि कपूर की किताब 'खुल्लम खुल्ला' रिलीज हो गई है। किताब के नाम के अनुरूप इसमें ऋषि ने खुल्लम खुल्ला होकर कई बातें लिखी हैं। एक दिलचस्प किस्सा दाऊद इब्राहिम को लेकर है। ऋषि ने लिखा ...

READ MORE +
अपनी शर्तों पर जीने के जोखिम

अपनी शर्तों पर जीने के जोखिम

0

हमारे देश में लंबे समय से पितृसत्तात्मक व्यवस्था है, जिसमें महिलाओं के जीवन के हर पहलू पर पुरुष अपना अधिकार समझता है। बिंदु डालमिया के उपन्यास 'द डायरी ऑफ ए लुटियन्स प्रिंसेसट में ...

READ MORE +
हनुमान तो बने दारा सिंह पर पूजा कभी नहीं की

हनुमान तो बने दारा सिंह पर पूजा कभी नहीं की

0

अभिनेता दारा सिंह को हनुमान के किरदार से खूब पहचान मिली, लेकिन एक हैरान कर देने वाली बात यह है कि दारा सिंह मूर्ति पूजा में विश्वास नहीं रखते थे। इस बात का खुलासा हुआ है दारा सिंह ...

READ MORE +
प्रेमचंद्र की बड़े घर की बेटी

प्रेमचंद्र की बड़े घर की बेटी

0

बेनीमाधव सिंह गौरीपुर गाँव के जमींदार और नम्बरदार थे। उनके पितामह किसी समय बड़े धन-धान्य संपन्न थे। गाँव का पक्का तालाब और मंदिर जिनकी अब मरम्मत भी मुश्किल थी, उन्हीं की ...

READ MORE +
उम्मीद की सीढ़ियों पर एक दरवाजा

उम्मीद की सीढ़ियों पर एक दरवाजा

0

'टुडे विल भी डिफरेंट' मारिया सैंपल का तीसरा उपनयास है। उपन्यास की मुख्य पात्र है एलेनोर फ्लड। एक मध्यम आयुवर्ग की विवाहित महिला, जिसके पति का नाम जो है। जो एक सर्जन है। उन दोनों ...

READ MORE +
वक्त की सरहद पर खड़ी ज‌िंदगी

वक्त की सरहद पर खड़ी ज‌िंदगी

0

प्रसिद्ध शॉर्ट स्टोरी लेखिका अली स्मिथ का उपन्यास ऑटम उनके चर्चित उपन्यासों में से एक है। उन्होंने एक बार फिर साबित किया है कि वह सामाजिक और राजनीतिक विषयों पर गहरा चिंतन और मजबूत ...

READ MORE +
अटल जीवन की अटल गाथा

अटल जीवन की अटल गाथा

0

30 सितंबर 2001। इस दिन दिल्ली से कानपुर की हवाई यात्रा के दौरान कांग्रेस के कद्दावर नेता माधव राव सिंधिया की विमान हादसे में मौत हो गई थी। माधव राव सिंधिया के साथ विमान में एक ...

READ MORE +
एक भयानक रात जब पहाड़ रोया

एक भयानक रात जब पहाड़ रोया

0

पहाड़ जब रोते हैं, तो आंसू नदियों में प्रलय लाते हैं। भारी विकास, पहाड़ों को काटकर आधारहीन बनाना, इंसानी सहूलियत का हवाला देकर नई-नई और दुर्गम जगहों पर पहुंचने की चाहत हमें जहां ...

READ MORE +
सपनों की बुलेट ट्रेन का सफर

सपनों की बुलेट ट्रेन का सफर

0

दिल्ली का मुखर्जी नगर। दस बाय दस के कमरे। दूर प्रदेशों से आए सिविल सेवा का परीक्षा पार करने आए लड़के-लड़क‌ियां। इस पूरे बिंब को अपनी किताब में सिलसिलेवार तरीके से पिरोया है मुकुल ...

READ MORE +